उत्तराखंड की कोल जनजाति

  • by

उत्तराखंड की कोल जनजाति


Kol Tribe of Uttarakhand


कोल जनजाति के अन्य नाम –

  • कोली
  • मुंड
  • पुनकर
  • दस्यु
  • कौल
  • शबर

कोल जनजाति की जानकारी के स्रोत – 

  1. मोहन जोदड़ो शिलालेख।
  2. श्री बचूभाई पीताम्बर क्न्वेद की पुस्तक ” कोलीय काबिले का इतिहास “।

धर्म –

  • कोल जनजाति का धर्म हिन्दू धर्म को मानते थे।
  • कोल जनजाति के लोग भगवान् शिव की पूजा-अर्चना करते थे।
  • कोल जनजाति के लोग जगार भी लगाया करते थे।
  • कोल जनजाति के लोग बलि प्रथा में काफी विश्वास करते थे।
  • ये लोग जादू – टोने किया करते थे।
  • इसके अलावा कोल जनजाति के लोग लिंग की पूजा तथा नाग पूजा भी किया करते थे।

भाषा –

  • मुंड

नृत्य –

  • कोलायाचा

मुख्य व्यव्साय –

  • कोल जनजाति का मुख्य व्यव्साय कृषि था।

मनोरंजन के साधन – 

  • नृत्य
  • संगीत
  • मदिरा पान

औज़ार-

  • कोल जनजाति के लोग लकड़ी और पत्थरों से बने औज़ारो का उपयोग करते थे।

कोल जनजाति से सम्बंधित कुछ अन्य जानकारी- 

  1. कोल जनजाति के नाम पर कोलाबा शहर बसा है।
  2. कोल जनजाति में कोलों के मृत शरीर को खुले में छोड़ने की प्रथा प्रचलित थी।
  3. यह जनजाति सबसे महनती जनजातियो में से एक मानी जाती थी।
  4. कोल जनजाति के लोग छोटी कद-काठी व् क्रूर स्वभाव के होते थे।
  5. किरात जनजाति ने इनका अंत करा था।